चंद्र ग्रहण 2020 : नहीं लगेगा सूतक काल, लेकिन गर्भवती महिलाएं बरतें सावधानी

चंद्र ग्रहण 2020 : साल का अंतिम चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है. इस ग्रहण को लेकर अभी से चर्चा आरंभ हो गई है. ज्योतिष शास्त्र में चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण को एक बड़ी घटना माना गया है. ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में शुभ नहीं माना गया है. ऐसा माना जाता है कि ग्रहण के दौरान सूर्य और चंद्रमा पीड़ित हो जाते हैं. जब ये पीड़ित या कमजोर पड़ जाते हैं तो इसके अशुभ परिणाम मनुष्य के साथ साथ देश दुनिया पर भी पड़ता है.

पंचांग के अनुसार इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर 2020 को लगने जा रहा है इस दिन सोमवार है. जानकारों की मानें तो साल का आखिरी चंद्र ग्रहण एक उपछाया चंद्र ग्रहण है.

उपछाया चंद्र ग्रहण होने के कारण इसमें सूतक काल मान्य नहीं होगा. चंद्र ग्रहण लगने से 9 घंटे पूर्व सूतक काल आरंभ होता है, लेकिन इस ग्रहण में ऐसा नहीं होगा.

साल का आखिरी चंद्र ग्रहण एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका के विभिन्न राज्यों में दिखाई देगा. इस चंद्र ग्रहण का भारत पर कोई प्रभाव नहीं देखने को मिलेगा.

चंद्र ग्रहण टाइम
चंद्र ग्रहण का प्रारम्भ: 30 नवंबर, दोपहर 1:04 बजे
ग्रहण का मध्यकाल: 30 नवंबर, दोपहर 3:13 बजे
चंद्र ग्रहण समाप्त: 30 नवंबर, शाम 5:22 बजे

उपछाया होने के कारण इस चंद्र ग्रहण का भारत पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. लेकिन फिर भी गर्भवती महिलाएं चंद्र ग्रहण के दौरान सावधानी बरतें तो बेहतर होगा. चंद्र ग्रहण के दौरान भगवान का स्मरण करना चाहिए और शुभ कार्य न करें. चंद्र ग्रहण के दौरान भोजन ग्रहण न करें. ग्रहण के बाद स्नान करें.

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password