पबजी : बैन के दो महीने बाद आज से भारत में पुराने यूजर्स के लिए एक्सेस बंद

नई दिल्ली (एजेंसी). पबजी (Pubg) : पबजी (Pubg) मोबाइल पर बैन लगने के बावजूद भारतीय गेमर्स अभी तक इस गेम को एक्सेस कर पा रहे थे और खेल रहे थे. लेकिन आज से यानी 30 अक्टूबर 2020 से भारत में प्लेयर्स को गेम का एक्सेस मिलना बंद हो जाएगा. भारत सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाने के दो महीने बाद ऐसा होने जा रहा है.

यह भी पढ़ें :

छत्तीसगढ़ : डेढ़ साल की बच्ची को सिगरेट से दागने वाले पुलिस कर्मी की सेवा समाप्त

पबजी (Pubg) मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट के साथ अन्य 116 ऐप्स को सितंबर में प्रतिबंधित कर दिया गया था. यह प्रतिबंध देश में गूगल प्ले और एप्पल स्टोर से पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट को हटाने के लिए लाया गया था. इसके बावजूद दोनों गेम उन प्लेयर्स के लिए चालू थे, जिनके मोबाइल फोन पर यह गेम पहले से इंस्टॉल था. लेकिन अब यह गेम सर्वर लेवल से भारतीय प्लेयर्स के लिए एक्सेस बंद कर देगा.

यह भी पढ़ें :

दिवाली 2020 : 499 साल बाद बन रहा तीन बड़े ग्रहों का दुर्लभ संयोग, जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त

गुरुवार को पबजी (Pubg) मोबाइल ने भारत में अपने आधिकारिक फेसबुक पेज के जरिए से घोषणा की थी कि टेंसेंट गेम्स पबजी मोबाइल नॉर्डिक मैप: लिविक और पबजी मोबाइल लाइट दोनों के भारतीय यूज़र्स के लिए सभी सेवा और पहुंच को पूरी तरह से बंद कर देगा. भारत ने पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट के साथ-साथ चीन के कई अन्य ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था. प्रतिबंध सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए के तहत लगाया गया था और देश की ‘संप्रभुता और अखंडता’ के लिए खतरा बताया गया था.

यह भी पढ़ें :

आईपीएल 2020 : इस सीजन में केएल राहुल ने पार किया 600 रनों का आंकड़ा, विराट कोहली की रिकॉर्ड की बराबरी

सरकार द्वारा प्रतिबंध लागू होने के कुछ ही समय बाद, पबजी (Pubg) कॉरपोरेशन ने घोषणा की थी कि उसने पबजी मोबाइल के पब्लिशिंग अधिकारों को भारत में शेन्ज़ेन-आधारित टेंसेंट गेम्स से अपने अधीन ले लिया है. यह कदम चीनी कंपनी की भूमिका पर उठे सवालों के जवाब में था. हालांकि, इस वजह से प्रतिबंध में कोई बदलाव नहीं आया और गेम भारत में आज भी बैन की स्थिति में है. अभी तक यह केवल गूगल प्ले और ऐप्पल ऐप स्टोर से हटा हुआ था, लेकिन अब आज से इसे भारत में सर्वर लेवल से बंद कर दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें :

कोरोना वायरस : यात्रा-पर्यटन क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर 17.4 करोड़ नौकरियां जाने का अनुमान

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password