गोलबाजार मालिकाना हक : रायपुर निगम ने घोषित की पार्षदों की समिति, नेता प्रतिपक्ष ने किया अमान्य

रायपुर (अविरल समाचार)। गोलबाजार के दुकानदारों को दुकानों का मालिकाना हक देने के लिए नगर निगम ने आज 5 पार्षदों की समिति की घोषणा कर दी. निगम की पिछली सामान्य सभा में उठी मांग के अनुरूप महापौर एजाज ढेबर की अनुमति के बाद राजस्व विभाग के अध्यक्ष अंजनी राधेश्याम विभार ने यह समिति गठित की है. गठित समिति में निगम की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए कांग्रेस के साथ ही विपक्ष के भाजपा पार्षदों को भी शामिल किया गया है. लेकिन समिति के गठन के साथ ही विवाद शुरू हो गया हैं. निगम में नेता प्रतिपक्ष मिनल चौबे ने इस समिति को मान्य करने से इनकार कर दिया हैं.

यह भी पढ़ें :

छत्तीसगढ़ में मौसम बदल सकता हैं, राजधानी सहित प्रदेश के कई हिस्सों में हो सकती हैं बारिश

गोलबाजार के मालिकाना हक़ को लेकर पार्षदों की गठित समिति में राजस्व विभागाध्यक्ष विभाग के अलावा एमआईसी सदस्य ज्ञानेश शर्मा, श्रीकुमार मेनन, भाजपा के वरिष्ठ पार्षद सूर्यकांत राठौड़ और डॉ. प्रमोद कुमार साहू को शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें :

क्या आप सोना-चांदी खरीदना चाहते हैं ? जाने क्या है सही समय ?

समिति के गठन को लेकर जब अविरल समाचार ने रायपुर नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष मिनल चौबे से चर्चा कि तो उन्होने इस बारे में कोई भी जानकारी नहीं होने की बात कही. उन्होंने कहा कि हमें किसी के भी नाम से कोई आपति नहीं हैं, लेकिन समिति के गठन में परम्परा का पालन नहीं किया गया. सामान्य सभा में हुई घोषणा के अनुसार समिति के गठन से पहले हमसे चर्चा करना चाहिए था. हमारे दल के नाम तय करने वाले वो कौन होते हैं. हम इस समिति को मान्य नहीं करेंगे. यदि हमारे दल के सदस्य समिति की बैठक में शामिल होते हैं तो ये उनका व्यक्तिगत निर्णय होगा.

यह भी पढ़ें :

आज का राशिफल : जाने किन 6 राशि वालों के लिए आज का दिन हैं शुभ और लाभ देने वाला

समिति में स्थानीय पार्षद डॉ. सीमा कंदोई को भी स्थान नहीं दिया गया. नहीं दक्षिण विधानसभा के किसी पार्षद को इस समिति में शामिल किया गया नहीं जिस जोन में गोलबाजार आता हैं उसके जोन अध्यक्ष को शामिल किया गया हैं. गोलबाजार का क्षेत्र रायपुर नगर निगम के जोन 4 में आता हैं. इस जोन के अध्यक्ष सभापति प्रमोद दुबे हैं. स्थानीय पार्षद ने भी इस बात को लेकर कड़ा विरोध किया हैं. और कहा कि स्थानीय पार्षद को समिति में न रख कांग्रेस के महापौर ने अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं. वे केवल मनमानी करना चाहते हैं. जन भावनाओं की उन्हें कोई चिंता नहीं हैं.

यह भी पढ़ें :

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की बैठक नागपुर में 3 से, मोदी सरकार के कामकाज की होगी समीक्षा

रायपुर नगर निगम के सचिवालय के सचिव आरके डोंगरे ने निगम सभापति प्रमोद दुबे के आदेश पर पांच सदस्यीय पार्षदों की गठित समिति को लेकर जारी आदेश में कहा है कि नगर निगम के नियमों एवं हितों को ध्यान में रखते हुए गोलबाजार के व्यापारियों के साथ मिलकर नियमानुसार बिना भेदभाव के समान रूप से व्यवस्था बनाए रखने के लिए पांच पार्षदों की कमेटी प्रभारी राजस्व विभाग अंजनी राधेश्याम विभार की अध्यक्षता में गठित की गई है। यह कमेटी गोलबाजार के मालिकाना हक के संबंध में की गई कार्रवाई में आवश्यकतानुसार सुझाव, अन्य नियमों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लेने में सहयोग करेंगे।

यह भी पढ़ें :

एकादशी के दिन चावल क्यों नहीं खाना चाहिए, पढ़ें क्या हैं धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

गोलबाजार के मालिकाना हक को लेकर गठित कि गई समिति के संबंध में अविरल समाचार ने महापौर एजाज ढेबर से चर्चा की तो उन्होंने सभापति से चर्चा कर कुछ कहने की बात की. वहीं सभापति प्रमोद दुबे से जब मोबाईल पर संपर्क करने का प्रयास किया तो उनके मोबाईल पर रिंग जाती रही कोई जवाब नहीं मिला. 

यह भी पढ़ें :

छत्तीसगढ़ में कोरोना के 12 जिलों में कोई नए केस नहीं, 52 मरीज हुए ठीक

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password