कांग्रेस के निवेदन के बाद भी नहीं चुन पाई भाजपा नेता प्रतिपक्ष, आपसी गुटबाजी हावी

मृत्युंजय, सूर्यकांत और मिनल चौबे हैं दावेदार, पार्षदों से ली गई राय  

रायपुर (अविरल समाचार). कांग्रेस के निवेदन के बाद भी भाजपा रायपुर नगर निगम में अपना नेता प्रतिपक्ष नहीं चुन पाई. आज भाजपा कार्यलय एकात्म परिसर में इस हेतु बैठक जरुर हुई मगर वह भी बेनतीजा रही. बताया जा रहा हैं कि भाजपा की आंतरिक राजनीति के कारण ये संभव नहीं हो पाया.

यह भी पढ़ें :

जानें इन श्राद्धों का महत्व, पितरों का लेना है आशीर्वाद तो करें ये 12 प्रकार के श्राद्ध

विगत दिनों छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर नगर निगम में कांग्रेस के सभापति प्रमोद दुबे ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर निगम में नेता प्रतिपक्ष का नाम तय करने के लिए आग्रह किया था. जिसके बाद आज भाजपा कार्यालय में पार्षदों की बैठक बुलाई गई और उनसे नेता प्रतिपक्ष के लिए बंद कमरे में राय ली गई. पार्षदों से रायशुमारी करने के लिए रायपुर दक्षिण के विधायक बृजमोहन अग्रवाल, सांसद सुनील सोनी, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, शहर के नवनियुक्त अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी, पूर्व अध्यक्ष राजीव अग्रवाल मौजूद थे.

यह भी पढ़ें :

PUBG समेत 118 Apps को बैन किए जाने पर चीन भड़का, जानें क्या कहा?

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में पूर्व नेता प्रतिपक्ष सूर्यकांत राठौर, मृत्युंजय दुबे और मिनल चौबे का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा हैं. जिसमे राठौर पूर्व में भी इस पद पर रह चुके हैं. दुबे वर्तमान में सबसे वरिष्ठ पार्षदों में से एक हैं. मिनल चौबे भी इस दौड़ में हैं. संगठन और निगम में कार्य करने का अनुभव उनके पास हैं. पार्टी के पार्षद दल में महिलाओं की संख्या लगभग आधी हैं 29 पार्षदों में से 14 महिला पार्षद हैं. भाजपा ने यदि महिलाओं को मौका देने का मन बनाया तो वो सबसे आगे हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें :

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- विश्विद्यालय चाहें तो प्रथम और द्वितीय वर्ष की परीक्षा ले सकते हैं

भाजपा पार्षद दल की आज हुई बैठक में तो कोई नतीजा नहीं निकला. सभी नेताओं ने पार्षदों से अलग-अलग बुलाकर उनकी राय जानी हैं. मगर नाम तय नहीं किया. बताया जा रहा हैं कि भाजपा की आपसी गुटबाजी के चलते ये हुआ हैं. मगर पार्षदों की बैठक में ये कहा गया कि वर्तमान में पितृपक्ष होने के कारण अभी नाम कि घोषणा नहीं की जा रही हैं.

यह भी पढ़ें :

नहीं थी सुशांत की लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी, परिवार के खिलाफ चल रहे कैंपेन से आहत हैं तीनों बहनें

भाजपा के प्रवक्ता और नवनियुक्त शहर जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने अविरल समाचार से चर्चा में बताया कि पार्षदों से राय ली गई हैं. सभी ने पार्टी के निर्णय को स्वीकार करने की बात कही हैं. पितृपक्ष के बाद नाम की घोषणा कर दी जायेगी.

यह भी पढ़ें :

सोने-चांदी की कीमत में क्या हुआ बदलाव, जानें

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password