राज्य सरकार स्कूली पाठ्यक्रमों में करने जा रही है बड़ी कटौती, कक्षा के अनुरूप 30 से 40 फीसदी तक घटेंगे सिलेबस

रायपुर (अविरल समाचार) : कोरोना की वजह से अगर सबसे ज्यादा किसी को नुकसान हुआ है, तो वो है स्कूली बच्चों का। पिछले छह महीने से स्कूल बंद हैं और बच्चों का पाठ्यक्रम पूरी तरह चौपट हो गया है। देश में कोरोना के मौजूदा हालात के बीच ये कह पाना संभव भी नहीं है कि स्कूल कब तक खुलेंगे और बच्चों की कक्षाएं कब से शुरू हो पायेगी। इसी बीच एक खबर ये आ रही है कि छत्तीसगढ़ सरकार स्कूली बच्चों के सिलेबस में बड़ी कटौती कर सकती है। हालांकि राज्य सरकार ने ये भी फैसला लिया है कि संशोधित सिलेबस को लेकर पूरी मानिटरिंग की जायेगी और स्कूल व शिक्षक से इस बाबत महीने व सप्ताह के हिसाब से रिपोर्ट भी तलब की जायेगी।

स्कूल शिक्षा विभाग ने सिलेबस में कटौती का फैसला ले लिया है, जल्द ही सिलेबस में कटौती का विवरण भी जारी हो जायेगा। जानकारी के मुताबिक करीब 30 से 40 फीसदी सिलेबस में कटौती राज्य के स्कूलों की अलग-अलग कक्षाओं में किया जा सकता है। खबर है कि स्कूल शिक्षा विभाग संशोधित सिलेबस को लेकर अपनी तैयारी कर ली है और उसे जल्द ही जारी किया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक प्राथमिक व माध्यमिक के साथ-साथ उच्च वर्ग की कक्षाओं के पाठ्यक्रम में ये कटौती की गयी है। पाठ्यक्रम को उस अनुरूप तैयार किया गया है, जिससे स्कूल अगर एक माह बाद भी खुले तो सेशन में विलंब ना हो। लिहाजा सिलेबस को पूरा कराने को लेकर विस्तृत प्रारूप तैयार किया गया है। जिसे महीना व सप्ताह के लिहाज से बांटा जायेगा। स्कूल जब शुरू होंगे तो बच्चों की पठाई उसी सिलेबस के अनुरूप होगी।

राज्य सरकार संशोधित पाठ्यक्रम की पूरी मानिटरिंग करेगी और हर सप्ताह ये रिपोर्ट भी लेगी कि इस सप्ताह किस पाठ्यक्रम को बच्चों को पढ़ाया गया है। हालांकि खबर ये भी है कि स्कूलों में आनलाइन क्लास लेने को लेकर कुछ स्पष्ट निर्देश भी राज्य सरकार जारी कर सकती है। खासकर आनलाक 4 में कक्षा 9 से लेकर 12वीं तक बच्चों को शर्तों के साथ स्कूल आने की इजाजत दे दी गयी है।

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password