CM नीतीश कुमार के निश्चय संवाद से पहले तेजस्वी यादव ने की सवालों की बौछार, कहा- रैली में जवाब जरूर दें

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आज 11:30 बजे से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वर्चुअल रैली के माध्यम से बिहार की जनता को संबोधित करेंगे. लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की वर्चुअल रैली से पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर सवालों की बौछार कर दी है और उनसे 10 चुभते सवाल पूछे हैं.

तेजस्वी यादव ने कहा, “नीतीश कुमार की पिछले 1 मार्च को गांधी मैदान की एक्चुअल रैली का हश्र पूरे देश ने देखा था. खैर वर्चुअल के बहाने हम उन्हें एक्चुअल मुद्दों से भागने नहीं देंगे. आशा है आज मुख्यमंत्री हमारे इन सवालों का जवाब देंगे कि –

पिछले 15 वर्ष के आपके कार्यकाल में बिहार में बेरोजगारी, गरीबी, भुखमरी और पलायन क्यों बढ़ता गया?

बिहार में बेरोजगारी दर 46.6% सबसे अधिक क्यों है? बिहार बेरोजगारी का मुख्य केंद्र क्यों है?

नीति आयोग के सारे सूचकांकों पर बिहार साल दर साल क्यों पिछड़ता चला गया? नीति आयोग की रिपोर्ट अनुसार शिक्षा, स्वास्थ्य और सत्तत विकास सूचकांक में बिहार अंतिम पायदान पर कैसे पहुंचा? इसका दोषी कौन?

नीतीश कुमार बताएं उनके 15 वर्ष के कार्यकाल में 20 हज़ार करोड़ से अधिक राशि के 58 घोटाले क्यों हुए? क्या आप इन घोटालों के दोषी नहीं और उस गबन राशि की भरपाई कैसी होगी?

आपके कार्यकाल में दलितों पर अत्याचार क्यों बढ़ा? NCRB के अनुसार देश भर में दलितों पर सबसे ज्यादा क्राइम बिहार में हुए जिसका दर 40.7% है जबकि राष्ट्रीय औसत 21.8 है.

केंद्र सरकार की सभी मानक संस्थाओं जैसे NCRB, नीति आयोग, NHM इत्यादि के अनुसार बिहार में शिक्षा, स्वास्थ्य और कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर क्यों है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीकी ओर से घोषित तथाकथित 1.65 लाख करोड़ के पैकेज का योजनावार और विभागवार खर्च कितना और कहां हुआ? मुख्यमंत्री इसका ब्यौरा स्वयं सार्वजनिक करें?

बिहार सबसे अधिक युवा आबादी वाला प्रदेश है. बिहार के युवाओं को नीतीश कुमार की रूढ़िवादी, बासी, उबाऊ और 15 वर्षों की घिसी पिटी नकारात्मक बातें नहीं चाहिए. बिहार के युवा इतिहास के बासी पन्ने नहीं बल्कि सुनहरा वर्तमान और भविष्य चाहते है. मुख्यमंत्री बताएं कि उन्होंने 15 वर्षों में रोजगार क्यों नहीं दिया? बिहार में उद्योग-धंधे क्यों नहीं लगाए? बिहार में नियमित बहाली क्यों नहीं की?

मुख्यमंत्री बताएं उन्होंने 2013, 2017 में बार-बार जनादेश का अपमान क्यों किया? व्यक्तिगत फायदे के सिवाय उनके इन कृत्यों से बिहार को क्या फायदा हुआ? इसकी विस्तृत जानकारी बिहार को दें?

बिहार जानना चाहता है कि नीतीश कुमार की नीति, नियम, नियति, सिद्धांत और विचार क्या है, क्योंकि बिहार का कोई ऐसा दल नहीं जिससे अपने स्वार्थ के चलते इन्होंने समझौता कर विश्वासघात नहीं किया हो?

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password