भारत में कोरोना : केंद्र ने छत्तीसगढ़ सहित 3 राज्यों में भेजे 50 दल

भारत में कोरोना : छत्तीसगढ़ के 11 जिलों में जायेंगे  केन्द्रीय दल

नई दिल्ली/ रायपुर (अविरल समाचार). भारत में कोरोना (Covid-19 In India) संक्रमण के मामलों में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। स्थिति कितनी गंभीर है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सोमवार को देश में पहली बार एक दिन में एक लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार सोमवार को देश में कोरोना के एक लाख 3558 मामले दर्ज किए गए। यह आंकड़ा अब तक एक दिन में सामने आए मामलों में सबसे ज्यादा है। इसके अलावा इस अवधि में 478 मरीजों की मौत हुई, जिसके साथ कोरोना के चलते होने वाली कुल मौतों की संख्या एक लाख 65 हजार 101 हो गई। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में कोविड-10 नियंत्रण और रोकथाम के उपायों के लिए 50 उच्चस्तरीय जनस्वास्थ्य दलों को रवाना किया है।

यह भी पढ़ें :-

छत्तीसगढ़ में कोरोना, रायपुर में 20 सहित 38 की मौत 7 हजार से अधिक नए संक्रमित

भारत में कोरोना (Covid-19 In India) के मामलों में फरवरी की शुरुआत से ही दैनिक मामलों में वृद्धि हो रही है। इससे पहले सितंबर में एक दिन में एक लाख से कुछ कम मामले देखे गए थे, लेकिन इसके बाद फरवरी 2021 तक यह आंकड़ा नौ हजार प्रतिदिन तक पहुंच गया था। हालांकि, इसके बाद एकाएक संक्रमण के मामलों में तेजी आनी शुरू हुई। स्थिति इतनी विषम हो गई है कि कई राज्यों ने अपने-अपने यहां सख्त प्रतिबंध लागू कर दिए हैं। महाराष्ट्र जैसे राज्य एक बार फिर लॉकडाउन लगाने पर विचार कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में कोरोना (Covid-19 In Chhattisgarh) के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने प्रदेश के अधिकाँश जलों में रात्रि कर्फ्यू लागू कर दिया हैं. धारा 144 भी लागु रहेगी। इसके साथ ही राज्य सरकार ने निजी कार्यालय, रेस्तरां, सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, बार, धार्मित स्थल और बीच जैसे सार्वजनिक स्थल के लिए भी नई गाईड लाइन जारी की हैं।

यह भी पढ़ें :-

चैत्र नवरात्र 2021, 13 अप्रैल से, जाने कब होगी घटस्थापना और क्या हैं योग

आज केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ के 11 जिलों में अपना दल भेजने का निर्णय लिया हैं. इसके लिए ऋचा शर्मा अतिरिक्त सचिव पर्यवरण एवं वन मंत्रालय को नोडल अधिकारी बनाया गया हैं.  इसके साथ ही दो सदस्यीय उच्च स्तरीय टीम भी होगी जिसमें एक चिकित्सक / महामारीविद और एक सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ शामिल हैं। टीमें तुरंत राज्यों का दौरा करेंगी और COVID19 प्रबंधन के समग्र कार्यान्वयन की निगरानी करेंगी, विशेष रूप से टेस्टिंग में, जिसमें निगरानी और रोकथाम कार्य शामिल हैं; COVID उपयुक्त व्यवहार और इसके प्रवर्तन; अस्पताल के बेड की उपलब्धता, एम्बुलेंस, वेंटिलेटर, मेडिकल ऑक्सीजन आदि सहित पर्याप्त रसद और COVID19 टीकाकरण प्रगति के संबध में जानकारी लेंगी.

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password