जवानों के बीच दिवाली मनाने पहुंचे पीएम मोदी, बोले- दुश्मन ने हमें आजमाने की कोशिश की तो जवाब भी प्रचंड मिलेगा

नई दिल्ली(एजेंसी) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राजस्थान के जैसलमेर बॉर्डर पर जवानों के साथ दिवाली मना रहे हैं. बीएसएफ के महानिदेशक राकेश अस्थाना, जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख एमएम नरवणे इस दिवाली समारोह के दौरान प्रधानमंत्री के साथ हैं. बता दें कि 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी हर साल उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, जम्मू कश्मीर के अग्रिम इलाकों में सैनिकों के साथ समय गुजारते हुए दीपावली मनाते रहे हैं.

राजस्थान के जैसलमेर बॉर्डर पर जवानों के साथ दिवाली मनाते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जवानों को शुभकामनाएं दी हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह देशवासियों की ओर से सभी जवानों के लिए प्यार और आशीष लेकर आए हैं. उन्होंने संबोधिक करते हुए कहा ‘मैं आज आपके बीच प्रत्येक भारतवासी की शुभकामनाएं लेकर आया हूं, आपके लिए प्यार लेकर आया हूं, आशीष लेकर आया हूं. मैं आज उन वीर माताओं-बहनों और बच्चों को भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं, उनके त्याग को नमन करता हूं, जिनके अपने सरहद पर हैं.’

वहीं प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही अपनी दिवाली जवानों के साथ मना रहे नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश के जवान पहाड़, रेगिस्तान किसी भी स्थिति में रहे, उनकी दिवाली सेना के जवानों के बीच आकर ही पूरी होती है. उन्होने कहा कि ‘आप भले बर्फीली पहाड़ियों पर रहें या फिर रेगिस्तान में, मेरी दिवाली तो आपके बीच आकर ही पूरी होती है. आपके चेहरों की रौनक देखता हूं, आपके चेहरे की खुशिया देखता हूं, तो मुझे भी दोगुनी खुशी होती है.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना के जवानों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि देश की 130 करोड़ जनता किसी भी परिस्थिती में जवानों के साथ खड़ी हुई है, आज सभी भारतवासियों को सैनिकों की ताकत पर गर्व है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘आपके इसी शौर्य को नमन करते हुये आज भारत के 130 करोड़ देशवासी आपके साथ मजबूती से खड़े हैं. आज हर भारतवासी को अपने सैनिकों की ताकत और शौर्य पर गर्व है. उन्हें आपकी अजेयता पर, आपकी अपराजेयता पर गर्व है.’

इसके साथ ही उन्होंने कड़े शब्दों में नए भारत की रणनीति पर बोलते हुए साफ कर दिया कि अगर कोई हमें आज़माने की कोशिश होती है तो, जवाब भी उतना ही प्रचंड दिया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘आज भारत की रणनीति साफ है, स्पष्ट है. आज का भारत समझने और समझाने की नीति पर विश्वास करता है लेकिन अगर हमें आज़माने की कोशिश होती है तो, जवाब भी उतना ही प्रचंड मिलता है.’

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password