अर्नब गोस्वामी गिरफ्तार, रिपब्लिक टीवी के फाउंडर हैं, जानें क्या है मामला

मुंबई (एजेंसी) अर्नब गोस्वामी : आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में रिपब्लिक टीवी के फाउंडर व कर्ता धर्ता अर्नब गोस्वामी को रायगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. तड़के सुबह साढ़े 6 बजे रायगढ़ पुलिस और मुम्बई पुलिस की एक टीम अर्नब गोस्वामी के घर पहुंची और हिरासत में लिया. अर्नब को घर से हिरासत में लेकर स्थानीय NM जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में कागज़ी कार्यवाही पूरा करने की जिम्मेदारी एनकाउंटर स्पेसलिस्ट सचिन वज़े को सौंपी गई थी.

यह भी पढ़ें :

करवा चौथ 2020 : जानिए कब है पूजा का शुभ मुहूर्त और क्या है पूजन विधि

अर्नब गोस्वामी द्वारा आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला मई 2018 का है. जब 53 साल के अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद नाइक ने अलीबाग के अपने बंगले में खुदकुशी कर ली थी. खुदकुशी के लिए अन्वय नाइक ने एक पत्र में 3 लोगों को जिम्मेदार ठहराया था. अन्वय के सुसाइड पत्र के मुताबिक अर्नब गोस्वामी, फिरोज शेख और नितैश सारडा को जिम्मेदार बताते हुए लिखा था कि मेरे मेहनताने के 5 करोड़ 40 लाख रुपए नहीं मिले, जिसकी वजह से कर्ज में डूबा हूं.

यह भी पढ़ें :

मुकेश अंबानी को रिलायंस इंडस्ट्रीज में उठाना पड़ा 7 अरब डॉलर का नुकसान

अन्वय नाइक कॉन्कर्ड डिज़ाइन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर थे. अन्वय की मां, कुमुद नाईक भी कंपनी में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में थीं. कॉन्कर्ड डिज़ाइन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने रिपब्लिक टीवी के स्टूडियो और दफ्तर के डिज़ाइन का काम किया था. अन्वय नाइक की पत्नी के मुताबिक, इस काम के बदले कॉन्कर्ड डिज़ाइन कंपनी ने जो बिल दिया था, उसका भुगतान रिपब्लिक टीवी ने नहीं किया. अन्वय के सुसाइड नोट के मुताबिक 5 करोड़ 40 लाख रुपए का भुगतान नहीं करने से उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ और आर्थिक तंगी की हालत हो गई. उस वक़्त रिपब्लिक टीवी ने यह स्पष्ट किया था की कॉन्कर्ड डिज़ाइन के साथ हुए करार के मुताबिक उन्हें पूरा भुगतान किया गया था.

यह भी पढ़ें :

कांटे की टक्कर के बीच जो बाइडन का समर्थकों से संबोधन, कहा- भरोसा रखिए, हम जीत रहे हैं

इस खुदकुशी के बाद अन्वय की पत्नी की शिकायत और सुसाइड नोट के आधार पर अलीबाग पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया था. पर्याप्त सबूत नहीं मिलने और आरोपों में तथ्य न मिलने से रायगढ़ पुलिस ने केस की क्लोजर रिपोर्ट फ़ाइल कर दी थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार किया था. मई 2020 में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने अन्वय नाइक की बेटी अदन्या नाइक की लिखित शिकायत पत्र के आधार पर एक बार फिर केस की जांच शुरू करने के आदेश दिए और मामला क्राइम ब्रांच को सौंप दिया.

यह भी पढ़ें :

राहुल गांधी का मोदी-नीतीश पर निशाना, बोले- कांग्रेस सरकार में नहीं, फिर भी हमने मदद की

आज तड़के सुबह अर्नब को उनके घर से गिरफ्तार किया गया. इस दौरान अर्नब ने आरोप लगाया कि मुंबई पुलिस ने उनके साथ मारपीट और बदसलूकी की है. अर्नब को अलीबाग के कोर्ट में पेश किया जाएगा.

यह भी पढ़ें :

पिछले 24 घंटे में कोरोना के सामने आए 46,254 नए मरीज, 514 लोग हार गए जिंदगी की जंग

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password