जब पीएम मोदी बोले- मुझे बनारस में कोई मोमोज नहीं खिलाता, स्ट्रीट वेंडर ने दिया ये दिलचस्प जवाब

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘प्रधानमंत्री स्‍वनिधि योजना’ के उत्तर प्रदेश के लाभार्थी और वाराणसी के दुर्गा कुंड वेंडिंग जोन में मोमोज एवं काफी का ठेला लगाने वाले अरविंद मौर्या से वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए संवाद किया. संवाद में मौर्या ने पीएम मोदी से कहा कि स्वनिधि योजना का लाभ पाने के लिए उसे कोई भागदौड़ नहीं करना पड़ा.

मोदी ने जब मौर्या से पूछा कि स्वनिधि योजना का लाभ पाने के लिए उसे कितनी भागदौड़ करनी पड़ी और किन-किन अधिकारियों के हाथ पैर पकड़ने पड़े, तो उसने कहा कि उसे कहीं भी भागदौड़ नहीं करना पड़ा.

उसने कहा कि डूडा एवं नगर निगम ने सर्वे किया. सर्वे के एक सप्ताह बाद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया सोनारपुरा ब्रांच से फोन आया कि उसका लोन आया है. उसने बताया कि इस फोन पर उसे बहुत आश्चर्य हुआ. उसे लगा कि कोई उसे बेवकूफ बना रहा.

मोदी ने मौर्या से जब कहा कि हम बनारस आते हैं तो लोग हमें तो मोमोज नहीं खिलाते, तो उसने प्रधानमंत्री से वायदा किया कि इस बार बनारस आने पर वह उन्हें मोमोज खिलाएगा.

इस पर मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा कि उनके सिक्योरिटी के लोग उन्हें सब कुछ ऐसे ही नहीं खाने देते. मौर्या ने प्रधानमंत्री से कहा कि वे रामायण के सबरी की तरह उन्हें मोमोज अवश्य खिलाएगा.

कोरोना काल में व्यापार बाधित होने और उससे आने वाली परेशानी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने उससे पूछा कि कोरोना से बचने के लिए एवं लोगों को जागरूक करने के लिए वह क्या करता है तो मौर्या ने बताया कि मास्क लगाकर आने वालों को एक मोमोज फ्री देने की उसकी स्कीम है. इस पर प्रधानमंत्री ने उसका स्वागत किया.

मोमोज की ऑनलाइन होम डिलीवरी के बाबत पूछे जाने पर मौर्या ने बताया कि पिंकी के माध्यम से वह ऑनलाइन डिलीवरी भी करता है.

सरकार की अन्य योजनाओं का लाभ मिलने के बाबत प्रधानमंत्री द्वारा पूछे जाने पर मौर्या ने बताया कि परिवार की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए उसके पास 5 लाख रुपये का आयुष्मान कार्ड बना है. अंत्योदय कार्ड बना है जिससे कोरोना काल में फ्री राशन मिला. श्रम योगी योजना में बीमा हुआ है. सरकार द्वारा भी बीमा कराया गया.

मोदी ने मोमोज एवं काफी विक्रेता अरविंद मौर्या से वार्ता के दौरान कोरोना से पूरी सफलता के साथ जंग लड़ने के लिए बनारसवासियों को धन्यवाद एवं नमस्कार किया.

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password