कोरोना काल में पहले के मुकाबले कितना अलग है इस बार का चुनाव, जानें- कैसे पहले से नियम बदल गए

नई दिल्ली(एजेंसी): बिहार चुनाव की तारीखों का एलान होने वाला है. लेकिन इस बार का बिहार चुनाव पिछले चुनावों से काफी अलग होने वाला है. इसका कारण है कोरोना महामारी. कोरोना वायरस फैलने के बाद देश में पहली बार किसी राज्य में चुनाव होने जा रहा है. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करना चुनाव आयोग के लिए बड़ी चुनौती है. इसके लिए आयोग ने कुछ नियमों में बदलाव किया है. आइए जानते हैं क्या है

हर मतदान केंद्र पर सिर्फ एक हजार मतदाता ही वोट देंगे. मतदान केंद्रों पर सैनिटाइजर से लेकर सभी तरह की व्यवस्थाएं रहेंगी.

मतदान का समय एक घंटा बढ़ाया गया है. अब सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होंगे.

कोरोना से संक्रमित मरीज मतदान के आखिरी घंटे में अपने संबंधित मतदान केंद्रों पर स्वास्थ्य अधिकारियों की देखरेख में वोट डाल सकेंगे.

नामांकन के लिए 2 से ज्यादा गाड़ियों का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे उम्मीदवार

चुनाव प्रचार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है.

नामांकन दाखिल करने के लिए उम्मीदवार के साथ दो लोग जा सकते हैं. उम्मीदवार को मिलाकर 5 लोग घर-घर जाकर कैंपेनिंग कर सकते हैं.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, बिहार विधानसभा चुनाव कोविड-19 के मौजूदा हालात में दुनियाभर में होने वाले सबसे बड़े चुनावों में से एक होंगे. महामारी ने जीवन के सभी पहलुओं में नयी स्थितियां पैदा कर दी हैं, बिहार चुनाव नए सुरक्षा दिशा-निर्देशों के तहत होंगे.

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password