बिहार चुनाव : पूर्व CM जीतन राम मांझी के बाद अब उपेंद्र कुशवाहा भी कर सकते हैं महागठबंधन से किनारा

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव की आहट के साथ ही राजनैतिक हलचल शुरू हो गई है. लेकिन चुनावी बिगुल बजने से पहले ही महागठबंधन में दरार पैदा होने लगी है. पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बाद अब सबसे बड़ा घटक दल आरएलएसपी भी अलग होने के जुगत में लग गई है. आरएलएसपी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा का अब महागठबंधन से मोह भंग होने लगा है और अटकलें लगनी शुरु हो गई हैं कि कि कुशवाहा और उनकी पार्टी अब गठबंधन को बाय-बाय कर सकती है.

सीट बंटवारे को लेकर के उपेंद्र कुशवाहा लगातार कभी कांग्रेस के आलाकमान तो कभी तेजस्वी यादव से मुलाकात करते रहे हैं. लेकिन अब तक इन्हें कोई आश्वासन नहीं मिला और अब इंतजार करते-करते थक कर उपेंद्र कुशवाहा और उनकी पार्टी अलग मंजिल को निकलने की तैयारी में हैं

गठबंधन से नाराज उपेंद्र कुशवाहा ने 24 सितंबर यानि गुरुवार को कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है. अंदेशा ये है कि इस बैठक के बाद पार्टी कोई बड़ा निर्णय ले सकती है. मालूम हो कि आरएलएसपी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा को नेता2 प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने महागठबंधन में शामिल किया था.

जहां एक तरफ आरएलएसपी के मुखिया गठबंधन में तव्वजो नहीं मिलने से खफा हैं वहीं दूसरी तरफ पार्टी युवा के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मोहम्मद कामरान को तेजस्वी अपनी पार्टी में शामिल कर रहे हैं ऐसे में अपने घर में हो रही सेंधमारी से बौखलाए उपेंद्र कुशवाहा की नाराजगी लाजमी है.

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password