गलवान झड़प के बाद से ही इस बात को लेकर झूठ बोलते रहे चीन ने अब मानी ये बात

नई दिल्ली(एजेंसी): पिछले कई महीनों से LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव जारी है. इस दौरान चीन ने कई बार उकसावे की कार्रवाई की. इसके बाद भारतीय जवानों ने चीनी सेना (पीपल्स लिबरेशन आर्मी) को मुंहतोड़ जवाब दिया. अभी भी लद्दाख में सीमा के दोनों तरफ भारी संख्या में जवानों की तैनाती है.

इस बीच चीन के सरकारी अखबार ग्लोबन टाइम्स ने माना है कि 15 जून को गलवान में उसके कई जवान मारे गए थे. ग्लोबल टाइम्स के संपादक हू शिजिन ने ट्वीट कर कहा, ”जितना मैं जानता हूं उसके हिसाब से गलवान घाटी में 15 जून को भारत के 20 सैनिकों की मौत की तुलना में चीनी सैनिक बहुत कम हताहत हुए थे.”

उन्होंने कहा, ”किसी भी चीनी सैनिक को भारतीय सैनिकों ने पकड़ा नहीं था जबकि पीपल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों ने कई भारतीय सैनिकों को पकड़ा था.”

बता दें कि 15 जून को गलवान घाटी में हुई झड़प में 20 भारतीय सैन्य कर्मियों के शहीद होने के बाद पूर्वी लद्दाख में तनाव कई गुना बढ़ गया था. चीनी सैनिक भी इसमें हताहत हुए लेकिन चीन ने आधिकारिक तौर पर कभी आंकड़ा सार्वजनिक नहीं किया.

भारत-चीन के बीच जारी तनाव को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा और राज्यसभा में बयान दिया है. उन्होंने गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि मौजूदा स्थिति के अनुसार चीनी सेना ने एलएसी के अंदर बड़ी संख्या में जवानों और हथियारों को तैनात किया है और क्षेत्र में दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव के अनेक बिंदु हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सेना ने भी जवाबी तैनातियां की हैं ताकि देश के सुरक्षा हितों का पूरी तरह ध्यान रखा जाए. हमारे सशस्त्र बल इस चुनौती का डटकर सामना करेंगे. हमें अपने सशस्त्र बलों पर गर्व है.’’

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password