उद्धव ठाकरे ने कहा खामोशी को कमजोरी नहीं समझें, कोरोना पर बोले, कंगना पर नहीं

मुंबई (एजेंसी). उद्धव ठाकरे : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राज्य की जनता को संबोधित कर रहे हैं. उद्धव ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जनता ने लॉकडाउन के नियमों का पालन किया है. हालांकि, अभी कोरोना का संकट का खत्म नहीं हुआ है. सरकार की तरफ से सामान्य जीवन को पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि लोगों ने इस दौरान संयम दिखाया है और राज्य सरकार का भरपूर साथ दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा, फिलहाल मैं राजनीति पर बात नहीं करना चाहूंगा. लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि मेरे पास जवाब नहीं है. महाराष्ट्र को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. इसलिए मैं महाराष्ट्र की बदनामी पर बात करूंगा.

यह भी पढ़ें :

बिना इंटरनेट के कर सकेंगे फाइल शेयर, बेहद खास है Google का ये ऐप

उद्धव ठाकरे ने कोरोना को लेकर कहा कि संक्रमण की रोकथाम में लोगों ने साथ दिया है मैं सबको धन्यवाद देता हूं. कोरोना को लेकर आपको डरने की जरूरत नहीं है, आप खबरदार रहें, हम जिम्मेदार रहेंगे. कुछ जिम्मेदारी आप उठाएंगे, कुछ आप उठाएंगे. देशभर में महाराष्ट्र ही वह राज्य है जहां कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं. उद्धव ने कोरोना को लेकर कहा कि  हमें और सावधानी बरतनी होगी.

यह भी पढ़ें :

अमित शाह, संसद सत्र के पहले सम्पूर्ण चेकअप के लिए भर्ती : AIIMS

उद्धव ठाकरे ने कहा कि 15 सितंबर से हम एक मुहिम शुरू कर रहे हैं. जो भी अपने महाराष्ट्र से प्यार करता है, वैसे सारे लोग इसमें अपनी जिम्मेदारी निभाएं. महाराष्ट्र हमारा परिवार है, इसे सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी है. इसलिए हमने इस मुहिम का नाम ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ रखा है. मास्क ही हमारा ब्लैक बेल्ट है, यही हमे सुरक्षित रखेगा.

यह भी पढ़ें :

दही में इन पांच चीजों में मिलाकर खाते हैं तो संभल जाएं, हो सकता है नुकसान

अभिनेत्री कंगना रनौत, शिवसेना और महाराष्ट्र सरकार के बीच तनाव जारी है. उद्धव ठाकरे ने अपने संबोधन में ना तो कंगना को लेकर कुछ कहा औऱ न ही शिवसैनिकों द्वारा पूर्व नौसेना अधिकारी की पिटाई पर.. आज कंगना महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने वाली हैं. मुंबई की तुलना पीओके से करने का बाद कंगना शिवसेना के निशाने पर आ गई हैं. हालांकि पार्टी का कहना है कि उनके लिए कंगना का चेप्टर अब खत्म हुआ.

यह भी पढ़ें :

पितृ पक्ष में त्रिगया पितृ तीर्थ पर पिंडदान और श्राद्ध करने से पितरों का मिलता है आशीर्वाद, धन धान्य से भर जाता है घर

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password