मनमोहन सिंह ने डगमगाती अर्थव्यवस्था बीच दिए तीन टिप्स, बोले- बड़े कदम उठाने होंगे

नई दिल्ली (एजेंसी) मनमोहन सिंह : पहले से जारी मंदी और आर्थिक संकट के बीच कोरोना संकट ने पूरी की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ कर रख दी है. भारत भी इससे अछूता नहीं है. बड़े पैमाने पर लोगों के सामने रोजगार का संकट है और सरकार के सामने अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने का. ऐसे में पूर्व पीएम और जाने माने अर्थशास्त्री डॉ. मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए सरकरा को तीन महत्वपूर्ण टिप्स दिए हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस स्थिति से निकलने के लिए बड़े कदम उठाने पड़ेंगे.

यह भी पढ़ें:

क्या आपको पता है, बीते एक हफ्ते में कोरोना ने सबसे ज्यादा तबाही भारत में मचाई है, जानिए- आंकड़े

मनमोहन सिंह ने बीबीसी से बात करते हुए सरकार को पहली टिप देते हुए कहा कि लोगों की आजीविका सुरक्षित करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सरकार को प्रयास करना चाहिए लोगों की नौकरियां ना जाएं. इसके साथ ही उन्हें आर्थिक मदद देकर उनके खर्च करने की क्षमता को बनाए रखना चाहिए. पूर्व प्रधानमंत्री ने सरकार को दूसरा सुझाव देते हुए कहा कि सरकार को सरकारी क्रेडिट गारंटी कार्यक्रमों के जरिए व्यापार और उद्योगों को पर्याप्त पूंजी उपलब्ध कराना चाहिए. तीसरे सुझाव में डॉ. सिंह ने कहा कि सरकार को फाइनेंशियल सेक्टर में संस्थागत स्वायत्तता और प्रक्रियाओं के जरिए सुधार लाना होगा.

यह भी पढ़ें:

बैंक लॉकर से जुड़े इस नियम को जान लीजिए, क्यों है आपके लिए बेहद जरूरी?

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के नोटबंदी, जीएसटी को ‘त्रुटिपूर्ण’ तरीके से लागू करने और लॉकडाउन के फैसले ने देश के आर्थिक ढांचे को “तबाह” कर दिया. राहुल गांधी ने आरोप लगाया, “नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने थे तो उन्होंने देश के युवाओं से वादा किया था कि वह हर साल दो करोड़ रोजगार देंगे. उन्होंने एक सपना बेचा लेकिन हकीकत यह है कि नरेंद्र मोदी की नीतियों की वजह से 14 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए.”बता दें कि कांग्रेस ने रविवार को “रोजगार दो” अभियान की शुरुआत की है.

यह भी पढ़ें:

रिया चक्रवर्ती ने ED को दिया 4 साल की आय का ब्यौरा, अब सुशांत के अकाउंट को खंगाल रही एजेंसी

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password