दुनिया और भारत में अब तक कितने करोड़ कोरोना वायरस वैक्सीन बनकर हैं तैयार, बस फाइनल ट्रायल के साथ ग्रीन सिग्नल का है इंतेजार

नई दिल्ली (एजेंसी): कोरोना वायरस वैक्सीन का इंतजार अब जल्द ही खत्म हो सकता है. देश में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोरोना वैक्सीन के उत्पादन का काम कर रहा है. जानकारी के मुताबिक इस वैक्सीन के एक करोड़ डोज बनकर तैयार हैं. वहीं दुनियाभर में भी करीब एक अरब वैक्सीन बनकर तैयार है.

यह भी पढ़ें :

EPFO ने जारी किए आंकड़े, मई में 3.18 लाख नए लोग नौकरियों से जुड़े-अप्रैल से बेहतर है संख्या

कोरोना वायरस वैक्सीन पर सीरम इंस्टीट्यूट के कार्यकारी निदेशक डॉ. राजीब ढोरे ने कहा, ”हमने बड़े पैमाने पर उत्पादन किया है. अभी वैक्सीन को सिर्फ सप्लाई के लिए जाने वाली शीशियों में भरने का पड़ाव बाकी है. हम उम्मीद कर सकते हैं कि दिसंबर तक कोरोना की वैक्सीन बन सकती है.”

यह भी पढ़ें :

रिलायंस (Reliance) की जिओ मार्ट (Jio Mart) करेगी किराना के आधे बाजार पर कब्जा : गोल्डमैन

दरअसल, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) दुनिया में वैक्सीन तैयार करने वाली सबसे बड़ी कंपनी है. सीरम ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई वैक्सीन को बनाने के लिए बायोफार्मासिटिकल कंपनी AstraZeneca के साथ पार्टनरशिप की है.

यह भी पढ़ें :

सोने से ज्यादा चांदी में फायदा, हाई रिटर्न के लिए लगा सकतें हैं सिल्वर में पैसा

ऑक्सफोर्ड की इस वैक्सीन का ट्रायल अगस्त के अंत तक 1500 भारतीय स्वयंसेवकों पर किया जाएगा. नवंबर तक ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन के आखिरी नतीजे आने की उम्मीद है. दिसंबर तक ये वैक्सीन मार्केट में आने की संभावना है. दरअसल ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन दूसरे चरण में भले ही पास हो गई हो लेकिन इसका फाइनल रिजल्ट सफल होगा या नहीं यह स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता. ऐसे में अभी से वैक्सीन के करोड़ों डोज बनाकर रखना एक रिस्क भरा फैसला है.

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के प्रमुख आदर पूनावाला ने कहा कि उन्होंने 20 करोड़ डॉलर का निवेश किया है. वैक्सीन की बाजार में कीमत करीब 1000 रुपये के आसपास होगी.

यह भी पढ़ें :

अपराधियों को निपटाने के लिए एनकाउंटर का सहारा न ले यूपी पुलिस, दो महीने में न्यायिक आयोग रिपोर्ट दे

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password