N-95 मास्क को लेकर सरकार की चेतावनी, कहा- कोरोना संक्रमण को रोकने में नाकाम है

नई दिल्ली(एजेंसी): कोरोना वायरस के चलते देश में मास्क की मांग काफी बढ़ गई है. एन-95 मास्क को लेकर पहले दावा किया जा रहा था कि ये मास्क कोरोना वायरस से बचाव में कारगर है. लेकिन अब केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर छिद्रयुक्त श्वासयंत्र (Valved Respirators) एन-95 मास्क पहनने के खिलाफ चेतावनी जारी की है. सरकार ने कहा है कि इस मास्क से कोरोना वायरस का प्रसार नहीं रुकता. ये मास्क महामारी को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के ‘विपरीत’ है.

स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक राजीव गर्ग ने सभी राज्यों और प्रदेशों के स्वास्थ्य शिक्षा मामलों के प्रधान सचिवों को पत्र लिखा है. उन्होंने कहा, “छिद्रयुक्त श्वसनयंत्र एन-95 मास्क संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए गए कदमों के विपरीत है. ये मास्क कोरोना को मास्क के बाहर आने से नहीं रोकता.”

महानिदेशक राजीव गर्ग ने राज्यों से सभी संबंधित लोगों को ये निर्देश देने का आग्रह किया कि चेहरा कवर करने के लिए एन-95 मास्क के अनुचित इस्तेमाल को रोकें.

हम यहां आपको मास्क इस्तेमाल करने के कुछ तरीके और जरूरी सावधानियां बता रहे हैं. इन बातों का ध्यान रखने से काफी हद तक संक्रमण से बचा जा सकता है.

मास्क को इस्तेमाल में लाने से पहले देख लें कि ये कहीं से गंदा तो नहीं, इसमें कोई छेद तो नहीं.

मास्क का इस्तेमाल तब ना करें जब ये गंदा हो या फिर भीगा हुआ हो.

एक निश्चित समय के बाद मास्क को बदल दें.

जब इस्तेमाल ना हो तब मास्क को इसकी ओरिजनल पैकिंग में साफ सुथरी जगह पर रखें.

मास्क धूल मिट्टी, नमी या फिर डाइरेक्ट सनलॉइट के संपर्क में नहीं आना चाहिए

मास्क लगाते समय ये ध्यान रखे कि ये आपके चेहरे पर पूरी तरह से फिट हो.

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password