सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त गणेश हिरवकर का आरोप, ‘आत्महत्या नहीं, उनकी हत्या हुई’

मुम्बई (एजेंसी) : सुशांत सिंह राजपूत की हत्या किये जाने का सनसनीखेज दावा 12 साल तक उनके दोस्त रहे गणेश हिवरकर ने किया है. कोरियोग्राफर और सुशांत के दोस्त गणेश ने 2007 में सूशांत को बॉलीवुड डांस सीखने में काफी मदद की थी और दोनों बहुत अच्छे दोस्त बन गये थे. गणेश 2019 तक सुशांत से टच में थे.गणेश हिवरकर ने खास बातचीत में इस हत्या की साजिश में सुशांत सिंह राजपूत का करीबी दोस्त होने का दावा करनेवाले निर्माता संदीप सिंह के भी शामिल होने का आरोप लगाया.

यह भी पढ़ें:

जिम पार्टनर ने लगाया गंभीर आरोप, शाहरुख खान के बर्ताव से दुखी थे सुशांत सिंह राजपूत

गणेश ने कहा, “संदीप के साथ काम करनेवाले एक करीबी शख्स ने मुझे बताया है कि किस तरह से सुशांत की एक्स मैनेजर दिशा सालियान अपने साथ हो रहे गलत बर्ताव की बात सुशांत सिंह राजपूत को बताई थी, जिसे लेकर सुशांत जल्द ही मीडिया के सामने कोई बड़ा खुलासा करनेवाले थे. यही बात उन्होंने संदीप सिंह को बता दी थी और संदीप सिंह ने इसे लीक कर दी थी, जिसके चलते सु्शांत की हत्या कर दी गयी थी.”

यह भी पढ़ें:

पीएम मोदी ने जिन तीन वैक्सीन का किया था जिक्र, कब तक आ पाएंगी? जानिए

गणेश आगे कहते हैं, “हत्या की एक रात पहले सुशांत के घर पर हुई एक पार्टी में बाहर से 5-6 लोग आये थे और उनके रहते ही सुशांत की हत्या हुई है. हत्या रात को या फिर सुबह हुई है, ये तो नहीं पता, लेकिन पार्टी में शामिल इन सभी लोगों के नाम मुझे पता हैं और मैं इन सभी नामों का खुलासा मैं सीबीआई के सामने करना चाहता हूं.”

यह भी पढ़ें:

प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- फेसबुक अधिकारियों के साथ BJP की सांठगांठ

गणेश ने कहा, 5-6 अगस्त की दरमियानी रात मेरे घर के बाहर 6-7 लोगों आकर यह कहते हुए जोर जोर से दरवाजा पीट रहे थे कि ‘तुझे टीवी पर आने का बड़ा शौक है न?” तकरीबन आधे घंटे तक उन्होंने मुझे धमकाया. ऐसे में मैंने ओशिवारा पुलिस स्टेशन को फोन लगाया तो मुझे पहले एफ आई आर लिखाने के लिए कहा गया और तीन बार फोन करने के बाद भी पुलिस मेरे घर पर नहीं आई.” गणेश कहते हैं कि उन्हें मुम्बई पुलिस पर जरा भी भरोसा नहीं है और सीबीआई को ही सुशांत की हत्या के मामले की जांच करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें:

राजस्थान : जयपुर में भारी बारिश से तबाही, सड़कों पर मिट्टी में दबे वाहन

गणेश ने एक बार फिर से दोहराया कि सुशांत डिप्रेशन का शिकार होकर आत्महत्या करनेवाला इंसान नहीं था. वे कहते हैं, “एक लड़की के चक्कर में जब मैं खुद डिप्रेशन का शिकार होकर आत्महत्या के बारे में सोच रहा था, तो उन्होंने मुझे डिप्रेशन से बाहर आने में मदद की थी और 6 महीने तक उन्होंने मेरा साथ दिया था. ऐसा व्यक्ति आत्महत्या नहीं कर सकता.”

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password