अफगान का प्याज, भूटान का आलू दिवाली के पहले पहुंचेगा, कीमतों पर लगाम लगाने सरकार का बड़ा फैसला

रायपुर (अविरल समाचार). अफगान का प्याज : त्योहारी सीजन में आलू व प्याज जैसी बेसिक सब्जियों की महंगाई पर काबू पाने के लिए सरकार ने आयात की अनुमति दे दी है। अफगानिस्तान से प्याज और निकट पड़ोसी भूटान से आलू आयात किया जा रहा है। केंद्रीय उपभोक्ता मामले व खाद्य मंत्री पीयूष गोयल ने कहा आलू व प्याज की यह खेप हर हाल में दिवाली से पहले पहुंच जाएंगी।उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि आलू के खुदरा मूल्य पर लगाम लगाने के लिये 10 लाख टन इस सब्जी का आयात किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें :

Reliance Jio का लाभ तीन गुना बढ़ा, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ का 15 प्रतिशत घटा, तिमाही नतीजे घोषित

इसमें से करीब 30,000 टन आलू भूटान से अगले कुछ दिनों में आ जाएगा. उन्होंने यह बात ऐसे समय कही है जब आलू की खुदरा कीमत देश में कुछ जगहों पर 60 रुपये किलो से ऊपर तक पहुंच गयी है. गोयल ने बताया कि 7000 टन प्याज की पहली खेप पहुंच चुकी है, जबकि 25 हजार टन की दूसरी खेप अफगानिस्तान से जल्दी ही पहुंचने वाली है।

यह भी पढ़ें :

पबजी : बैन के दो महीने बाद आज से भारत में पुराने यूजर्स के लिए एक्सेस बंद

उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि आलू की घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों को काबू में लाने के लिए भूटान से 30,000 टन आलू का आयात किया जा रहा है। वहीं 7,000 टन प्याज का आयात किया जा चुका है, दिवाली से पहले इसकी 25,000 टन खेप और आने की संभावना है। पीयूष गोयल ने कहा कि हमने हाल ही में जो कदम उठाए उसके कारण पिछले एक सप्ताह से प्याज की कीमत स्थिर है। अभी औसत मूल्य 65 रुपये प्रति किलोग्राम पर बना हुआ है। हमने 14 सितंबर को ही प्याज के निर्यात पर बैन लगाने का फैसला किया था। 21 अक्टूबर से प्याज आयात के नियमों को भी आसान किया गया है।

यह भी पढ़ें :

दिवाली 2020 : 499 साल बाद बन रहा तीन बड़े ग्रहों का दुर्लभ संयोग, जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password