रिलायंस के साथ सौदे पर इंटरनेशनल कोर्ट के आदेश को चुनौती नहीं देगा फ्यूचर ग्रुप, ये तर्क दिया

नई दिल्ली(एजेंसी): फ्यूचर ग्रुप रिलायंस के साथ सौदे पर इंटरनेशनल कोर्ट की अदालत को कानूनी तौर पर चुनौती नहीं देगा. सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर के अंतरिम फैसले में कहा गया है अमेजन की अपील पर जब तक अंतिम फैसला नहीं आ जाता तब तक फ्यूचर रिलायंस के साथ अपने सौदे को रोक दे. हालांकि फ्यूचर का कहना है कि इंटरनेशनल अदालत का फैसला भारत में लागू नहीं होगा लिहाजा वह इसे चुनौती नहीं देगा.

अगस्त में रिलायंस रिटेल ने ऐलान किया था कि वह फ्यूचर ग्रुप के रिटेल बिजनेस को खरीद लेगी. इसके खिलाफ अमेजन ने सिंगापुर की अदालत में अपील दायर कर कहा था कि वह इस सौदे को रोक दे क्योंकि फ्यूचर कूपन्स के साथ इसका जो करार है, उसका इस सौदे से उल्लंघन हो रहा है. इस कॉन्ट्रैक्ट के तहत इस तरह के सौदे में फर्स्ट रिफ्यूजल का अधिकार अमेजन का है. फ्यूचर ने कहा है कि अमेजन का सौदा फ्यूचर कूपन्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ है, फ्यूचर रिटेल के साथ नहीं. फ्यूचर कूपन्स प्राइवेट लिमिटेड प्रमोटर की होल्डिंग की कंपनी है. हालांकि सिंगापुर की अदालत ने कहा था कि अमेजन इस सौदे की पार्टी रही है, लिहाजा उसकी अपील पर अंतिम फैसला के पहले रिलायं के साथ सौदे को पूरा नहीं किया जा सकता.

फ्यूचर रिटेल के तहत ही बिग बाजार और ईजी डे स्टोर का संचालन किया जाता है. पिछले साल अमेजन ने 1500 करोड़ रुपये में फ्यूचर कूपन्स की 5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी. रिलायंस रिटेल को अपना रिटेल बिजनेस बेच चुके फ्यूचर ग्रुप ने कहा है कि वह यह सुनिश्चित करेगा कि यह सौदा बगैर किसी अड़चन के पूरा हो. फ्यूचर ग्रुप ने कहा है कि अमेजन जिस मुद्दे को लेकर इंटरनेशनल कोर्ट में गई है, उसमें उनकी कंपनी पार्टी (पक्ष) नहीं है, इसलिए सौदे की शर्तें इस पर लागू नहीं होतीं .

<

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password